पोस्ट

दिसंबर, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

चारा घोटाला सुनवाई : जब लालू जा रहे थे जेल जानिये तब वो क्या कर रहे थे, चौंक जावोगे पढ़ के

चित्र
सोचिये की आपको जेल होने वाली हैं तो आप जेल जाने से पहले आखिरी पलो में क्या करोगो? यकीनन, आजादी के उन चन्द पलो को परिवार वालो के साथ बाच-चीत या गुडबाय कहने में बितावोगे। लेकिन कल (23 Dec. 2017 ) को चारा घोटाला मामले में आरजेडी सुप्रिमो व बिहार के पुर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को दोषी करार  देने व पुलिस-हिरासत के फैसले के बाद , उन्होने अपने पेट का मलाल निकालने के लिए अपने आजादी के आखिरी पल ट्वीटर पर बिताये। लगातार एक के बाद एक करके  कुल 11  ट्वीट कर डाले। जिसमें,उसने एक ट्वीट मे अपनी खुद की तुलना मार्थिन किंग लुथर व नेसल्न मंडेला से कर दी। अपने को निर्दोष बताया। आपको सारे ट्वीट दिखाने से पहले जानकारी के लिये बता दे की- कल रांची की विशेष CBI की अदालत ने चारा घोटाला मामलें के तहत लालू सहित 16 को दोषी घोषित कर दिया तथा 6 जनो को बरी कर दिया। उसके बाद पुलिस ने लालू को हिरासत में ले लिया। 3 जनवरी 2018. को लालू को सजा सुनवाई जायेगी। उसले पहले दोषी होने के कारण उसे तब तक हिरासत मे लेकर रांची के बिरसा मुंडा में केन्द्रीय कारागर के अपर डिवीजन में रखा जायेगा। लालू के ट्वीटस:- आ

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई ऑनलाईन सेवाओ की महत्वपुर्ण बेवसाईटे,कभी भी पड़ सकती जरूरत,जानिये

चित्र
💻👉किसी को भी कभी भी जरूरत पड़ सकती है और शेयर जरूर करें 🎓👉सरकार ने विभिन्न ऑनलाईन सेवा शुरु की है 💻👉जिसे आप http://www.india.gov.in/howdo पेज पर जाकर अपने जरूरत की केटेगरी में चुन सकते हैं, उदाहरण के लिए कुछ इस प्रकार हैं :- 🙏* प्राप्त करे: 💻👉1. जन्म प्रमाण http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=1 💻👉2. जाति प्रमाण http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=4 💻👉3. टोली प्रमाणपत्र http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php… 💻👉4. अधिवास प्रमाणपत्र http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=5 💻👉5. वाहन चालक प्रमाणपत्र http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=6 💻👉6. विवाह प्रमाणपत्र http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=3 💻👉7. मृत्यु प्रमाणपत्र http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=2 🙏अर्ज करें : 💻👉1. पॅन कार्ड http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php… 💻👉2. Tan कार्ड http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php… 💻👉3. राशन कार्ड

गुजरात में केजरीवाल की खांसी अटकी, सभी उम्मीदवारो की जमानत जब्त

चित्र
अरविन्द केजरीवाल,राष्ट्रीय संयोजक, आम आदमी पार्टी (आप) दिल्ली मे भारी बहुमत से बनी आप सरकार ने, मोदी के गढ़ गुजरात में झाड़ू चलाने की कोशिश की। परन्तु हो उल्टा गया जहां झाड़ू को अपना दम दिखाना था,वहां तो आप पार्टी के झाड़ू तिनके ऐसे बिखरे की वापस संभल पाना भी मुश्किल हो रहा है। आम आदमी पार्टी (आप) के उतरे 29 उम्मीदवार चले तो 'कमल' को रौदने थे,लेकिन खुद की सीट बचाना तो दुर की बात ,यहां तक की अपनी जमानत तक  नहीं बचा पायें। सारे के सारे 29 आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारो की गुजरात विधानसभा 2017 चुनाव में जमानत जब्त हो गई और कुल 29 में से 16 उम्मीदवार को 500 से भी कम वोट मिले। NOTA से भी कम मिले वोट 'आप' के 29 मे से केवल एक उम्मीदवार को छोड़कर, बाकी 28 उम्मीदवारो को NOTA ( उपरोक्त मे से कोई नहीं ) से कम वोट मिले हैं। आप को बता दे की लगभग 75000 लोगो ने NOTA. बटन का उपयोग किया। बीजेपी को हराना था लक्ष्य आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द क्जरीवाल ने दिल्ली की रामलीला मे सम्बोधन के समय कहा था कि भले हम सीट न जीत सके ।तो कम से कम बीजेपी की सरकार नही बनने देनी

सिस्टम लाचार या खुद बेहाल : नहीं आयी 108, कर दिया हुकुमरानो ने साफ इन्कार

चित्र
मानसिक विमंदित सुनिल बिश्नोई जंजीर से बंधा हुआ यह तस्वीर सामने दिखने में जितनी खौफनाक लग रही है,उतनी ही बड़ी इसके पीछे दर्दभरी 15-16 साल की दास्तां छुपी है। इसमे जो लड़का जंजीर से बंधा दिख रहा है, यह मानसिक रूप से विमंदित है और काफी सालो से बेड़ियो से बंधकर पशु की तरह ,इलाज के लिए धन न होने के कारण जीवन व्यतीत कर रहा हैं। लेकिन हद तो तब हो गई जब अचानक तबीयत बीगड़ने पर इलाज के लिए ले जाने 108 ( नि:शुल्क एम्बुलेंस) को कॉल किया तो ,उन्होने साफ इंकार कर दिया। अब यहां कई सवाल खड़े हो जाते है। जो होना स्वाभाविक है। क्योकि आखिर  फिर यह मरीजो के लिए नहीं है तो किसके लिये है।  जो इन परिवार के साथ हुआ है। यह कल किसी के साथ भी हो सकता है, हमारे साथ भी और आपके साथ भी। तो खुद को जगाईये और आवाज उठाईये। और इस पोस्ट को इतना शेयर करे की यह बात सबको पता चल जानी चाहिए की सिस्टम में कहीं ना कहीं मरम्मत की जरूरत हैं। पीड़ीत सुनिल बिश्नोई के पास पहुंची पुलिस आपको बता दे कि यह घटना बीते सोमवार (18 Dec2017) की राजस्थान के जोधपुर जिले के एकलखोरी गांव की हैं। सुनिल बिश्नोई को कई सालो से जंजीर से बं

ज्योतिषविदो के अनुसार गुजरात का सरदार कौन? जानिये

चित्र
गुजरात   दोनो चरणो के मतदान सम्पन्न होने के बाद एक बार फिर न्युज चैनलो पर आये एक्जिट पॉलो ने सनसनी मचा दी।और पलड़ा BJP का भारी नजर आ रहा है। सारे न्युज चैनलो के एग्जिट पोलो का औसत 98-113 BJP को सीट हैं। लेकिन आईये जानते है की देश के पांच महान* ज्योतिषविदो के अनुसार गुजरात चुनाव का ऊँट किस करवट बैठेगा : -  👇ABP News के खजाने से खास आपके लिए👇 1.पंडित अशोक सोनी, ज्योतिषाचार्य  का कहना है - " बुध के 11 वें स्थान पर होने से BJP को फायदा है। 100% BJP की सरकार हैं गुजरात  में।जहां सीटो की बात करे तो  BJP को 103-123 सीट मिलने की सम्भावना है।" 2. सुनीता छाबड़ा, ज्योतिषाचार्य का कहना है- " बहुमत बीजेपी का ही होगा।लेकिन यह इतना आसान नहीं हैं, जितना एक्जिट पॉल बता रहे है। आखिरकार हम कह सकते है की भारतीय जनता पार्टी को टक्कर कांग्रेस देगी। अमित शाह की कुंडली में सुर्य का उदय है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कुंडली  बलवान नजर आ रही हैं। परन्तु प्रधानमंत्री की कुंडली मे साढ़े साती का प्रभाव है। दोनो की कुंडली देखकर कुल-मिलाकर बीजेपी का झंडा लहरायेगा। इस समय थो

जानिये किन कारणो से गुजरात में बन रही BJP. की सरकार

चित्र
हार्दिक का अजीब दावा 9 दिसम्बर को पहले चरण में 68% मतदान हुआ। दुसरे चरण के मतदान 14 दिसम्बर को तथा 18 दिसम्बर को नताजे आयेगे।        बहरहाल, नतीजो से पहले ओपनियन पॉल पर नजर डाले तो सरकार BJP के पाले में जाती दिख रही हैं। परन्तु मोदी का 150+ सीटो पर जीत का लक्ष्य पुरा होने में संदेह पैदा हो रहा है। सारे ऩ्युज चैनल व संस्थाओ के ओपनियन पोल का ओसत निकाले तो BJP के पास 106-114 के बीच सीट मिलने के आसार नजर आ रहे है। कुल मिलाकर सरकार तो BJP के बन रही है। आईये अब जानते है कि आखिर GST व नोटबंधी के बाद भी क्यो भारी पड़ रही मोदी लहर?🔽🔽🔽🔽 🔎 कारण 🔍 ⏩ BJP एक संगठ़ीत पार्टी है,वो कांग्रेस में बिल्कुल भी नजर नहीं आ रहा है। कभी राहुल गांधी कुछ बेलता है,तो कभी मणी शंकर अय्यर जैसे नेता पीछे कुछ और ट्वीट कर देते है। जिसके कारण तालमेल नही बैठ पाता है। जब पार्टी खुद मजबुत व ऊर्जा से भरपुर नहीं रहेगी तो आखिर जनता का ध्यान क्या अपनी तरफ खींच पाएगी ⏩दुसरा प्रचार नरेन्द्र मोदी जी कर रहे हैं। जो गुजरात का खुद को बेटा बताते है। आंसू बहाते हैं। यानी भावनात्मक मुद्दो को सामने लाकर जनता को BJP स

सियासी खेल : पहले जनेउधारी बनें, अब नीचता पर उतरे,बीच मे ही अटक गया विकास

चित्र
आखिर इन सफेदपोशो की सभ्यता यही है? की तुम नीच हो? नहीं मै तो जनेउधारी हिन्दु हुं,!  मोदी हिन्दु नहीं है, वो तो हिंदुत्ववादी है! यार तुम क्या साबित करने तुले हो? लोकतंत्र को मजाक बना के रखा है!! क्या कोई गरीब तुमको इसलिए वोट देगा की तुम हिन्दु ही नहीं, बल्कि जनेउधारी हिन्दु हो ! या फिर तुमको नीच कह दिया तो पुरे गुजरात का अपमान हो गया ,तो बदला ले वोट देगे। देश के एक गरीब को इससे कोई मतलब ही नहीं है। चाहे किसी भी धर्म का हो गरीबी तो गरीबी होती है। तुम यह मत सोचो की मै मैने चाय बेंची दी थी  तो मुझे वोट दो। यह देखो की हम जनता का क्या करेगे। सड़क पर एक फटी कम्बल को खुद न ओढ़ के अपने बच्चो को ओढ़ाने वालो का क्या काम करोगे। जब मै रात को टहलने निकलता हु तो सड़को पर ,एक अलग ही दुनिया में सोये लोगो को देखता हुं। तो बड़ा धक्का सा लगता साहब इनकी हालत को देख के । साहब तुम तो कभी एयरप्लेन से नीचे उतरते हो नहीं, तुम्हे क्या पता? कम से कम एक रात सड़क पर बिना बिस्तर के फटी कम्बल में सो के तो देखो। फिर पता चलेगा की असली गरीबी क्या होती है। साहब आप तो गुजरात का बेटा बनके आंसू बहाने में इतने

भंसाली कही प्रचार के चक्कर मे तो नही दिखा रहा है फिल्म, क्षत्रियो को

चित्र
🎬फिल्म का पोस्टर तो काफी आकर्षित है। परन्तु विवाद थमने के बजाय बढ़ता ही जा रहा हैं। खासकर सवाल यह उठ रहा है कि जब करऩी सेना/विरोधियो ने फिल्म देखी ही नही तो कैसे कह सकते है - फिल्म मे ं ऐतिहासिक तथ्यो के साथ छेड़छाड़ की गई है? सवाल में काफी दम है। इसे पढ़कर आप भी  यही सोच रहे होगे। बड़ी संख्या मे विरोध को नकारा नहीं जा सकता। सोचो इनको अगर लग रहा है कि पद्मावती को गलत सलीके से फिल्म में प्रस्तुत किया गया है तो फिल्म को दिखा देनी चाहिए। क्योकि किसी की भावना को ठेस पहुंचाकर फिल्म निर्माता अपनी रचनात्मकता को नहीं बेच सकते। क्योकि सवाल एक बहुत बड़े समुदाय/जाति को शौर्य व शान का है। हाँ। फिल्म बनाना कोई बुरी बात नहीं है। क्योकि फिल्म-निर्माताओ को भी उतनी आजादी है। परन्तु चन्द पैसो लालच मे काल्पनिक सीन मत घुसैड़िये। क्योकि रानी पद्मावती कोई सामान्य स्त्री नही थी। वे एक पवित्र  व देवी के समान थी। जिसने अपने पति राणा रतन सिंह के युद्ध में वीर गति को प्राप्त होने पर, दुश्मन अलाउद्दीन खिलजी से अपना पतिव्रता-धर्म को बचाते हुये जलती आग के कुण्ड में सहेलियो (जिनके पति युद्ध में मारे गये) के

विकास गया तेल लेने, हम तो धर्म की ठेकेदारी करेगे?? : गुजरात चुनावी राजनीति

चित्र
सत्ता की भूख इंसान पर किस कदर हावी हो जाती है,यह इस बार गुजरात चुनावी राजनीति में सबको देखने मिल रहा है। चाहे कुछ भी हो जाये बस सत्ता नही जानी चाहिए।बस यही चाहत है हर नेताजी की।  गुजरात का नाम आते ही नमो-नमो जरूर सामने स्मृति पटल पर आ जाता है।चाहे वो नमो चाय हो या फिर नारा तथा मित्रो ! BJP ने 2014 का चुनाव भी गुजरात मॉडल पर लड़ा था। जिसमे ऐतिहासिक जीत मिली।                                         इसलिए अब प्रश्न यह उठता है की इस गुजरात का चुनाव में विकास मॉडल कहाँ चला गया। माननीय PM साहब को आखिर आंसू बहा के "मै गुजरात का बेटा हुँ।" क्यो कहना पड़ रहा है? यह तो सबको पता है की भाषण के धुरेन्धर मोदी जी गुजरात से है। अगर वाकई विकास हुआ है तो विकास को जनता के सामने क्यो नही रखते, भावुक मुद्दो के बजाय। आखिर योगी ,PM को आने की कहां जरूरत थी। और इधर से राहुल बाबा मंदिर -मंदिर क्यो भटकते फिर रहे है। कांग्रेस तो हमेशा अपने  को सेकुरलिज्म कहती नही थकती थी तो फिर अब कह रही है की हमारे युवराज राहुल तो हिन्दु ही नहीं बल्की जनेऊधारी हिन्दु है। Photo : DainikBhaskar